शहीदों को नमन

आज न कुछ कहने कर मन है और न कुछ सुन ने सुनाने का।

सिर्फ़ इतना कहेंगे की न जाने क्या हो गया हमारे देश को । कभी कभी ऐसा लगता है की जिस एक हिंदुस्तान में हम रहते है , उसकी एकता और अखंडता ही एक छलावा है और पता नही किसी ने कहा भी था की हिंदुस्तान न एक था , न है और न रहेगा।

१०-११ आदमी और इतना बड़ा देश , शायद बहुत कमजोर हो गए हम। अब राजनीतिक इच्छाशक्ति की तो क्या बात करें, जिस देश का गृह मंत्री औरतों की तरह अपनी साज सज्जा पर ही ध्यान देता है और तीन दिन से कहीं नजर नही आता है उस की सुरक्षा ??

6 comments:

Arvind Mishra

आपकी बात से पूरी तरह सहमत

Ratan Singh Shekhawat

देश हित में मरने वाले शहीदों को शत-शत नमन

नारदमुनि

inko sharm aati hai.narayan narayan

seema gupta

" सच कहा बेहद शर्मनाक और दर्दनाक है.., सभी शहीदों को श्रधान्जली

Monika

“प्रेरणा शहीदों से हम अगर नहीं लेंगे
आजादी ढलती हुई साँझ बन जाएगी
यदि वीरों की पूजा हम नहीं करेंगे
सच मानो वीरता बाँझ बन जाएगी “
देश के लिए शहीद होने वालों को मेरा नमन

मोनिका दुबे (भट्ट)

Anonymous

swarganga.com is for sedo. do check the http://www.swarganga.com for more information. click on advt for more info

Blogger template 'BrownGuitar' by Ourblogtemplates.com 2008